• ​योग दिवस: जेल में कैदियों के साथ

    ​योग दिवस: जेल में कैदियों के साथ

  • ध्यान: जीवन की सतह से गहराई की ओर

    ध्यान: जीवन की सतह से गहराई की ओर

  • आप मिस्टेक हैं या मिस्टिक

    आप मिस्टेक हैं या मिस्टिक?

  • देवी भैरवी क्यों हैं उग्र और प्रचंड?

    देवी भैरवी क्यों हैं उग्र और प्रचंड?

  • चाय और कॉफ़ी: क्या अध्यात्म में हानिकारक हैं?

    चाय और कॉफ़ी: क्या अध्यात्म में हानिकारक हैं?

  • भीतरी यात्रा: कैसे करें?

    भीतरी यात्रा: कैसे करें?

  • कैसे पाएं कृष्ण जैसा जादुई आकर्षण

    कैसे पाएं कृष्ण जैसा जादुई आकर्षण

  • भक्ति पैदा करने के सूत्र

    भक्ति पैदा करने के सूत्र

नये ब्लॉग पोस्ट

​योग दिवस: जेल में कैदियों के साथ

​योग दिवस: जेल में कैदियों के साथ

ईशा फाउंडेशन की एक स्वयंसेवी गीता तिरुज्ञानम ने हाल ही में गाजियाबाद जेल के कैदियों के लिए एक योग सत्र का आयोजन किया। इस सत्र में सद्‌गुरु द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए खास तौर पर तैयार किए गए अभ्यास शामिल थे। उन ...
और पढ़ें
ध्यान: जीवन की सतह से गहराई की ओर

ध्यान: जीवन की सतह से गहराई की ओर

‘ध्यान’ को लेकर तरह-तरह के लोग तरह-तरह की बातें करते हैं। कुछ अपने अजीबोगरीब अनुभव भी सुनाते हैं। तो आखिर ध्यान है क्या? क्या यह सचमुच किसी दूसरी दुनिया में जाने जैसा होता है? ...
और पढ़ें
आप मिस्टेक हैं या मिस्टिक

आप मिस्टेक हैं या मिस्टिक?

सद्‌गुरु कहते हैं दुनिया में बस दो तरह के लोग हैं – मिस्टेक या मिस्टिक। और सबसे मजेदार बात कि बस एक छोटी सी बात आपको मिस्टेक से मिस्टिक बना सकती है। क्या है वो बात? ...
और पढ़ें
देवी भैरवी क्यों हैं उग्र और प्रचंड?

देवी भैरवी क्यों हैं उग्र और प्रचंड?

ध्यानलिंग और देवी मंदिर में पूजा अराधना के तरीकों में अंतर को लेकर कई बार कुछ लोगों के मन में सवाल उठते रहते हैं। इस बार के स्पॉट में सद्‌गुरु बता रहे हैं कि देवी कैसे कई तरह से अलग हैं। ...
और पढ़ें
चाय और कॉफ़ी: क्या अध्यात्म में हानिकारक हैं?

चाय और कॉफ़ी: क्या अध्यात्म में हानिकारक हैं?

चाय या कॉफ़ी पीने की आदत हमारे देश में लगभग हर घर में पायी जाती है। विशेषज्ञ हमें बताते हैं कि शरीर के लिए यह हानिकारक है। क्या आध्यात्मिक प्रक्रिया के लिए भी यह हानिकारक है? ...
और पढ़ें
भीतरी यात्रा: कैसे करें?

भीतरी यात्रा: कैसे करें?

हमारी परंपरा हमें बताती है कि इश्वरत्व हर जगह और हर समय मौजूद है. तो फिर ऐसे में आध्यात्मिक लक्ष्य की ओर बढ़ने के, या अपनी भीतर की यात्रा करने का क्या अर्थ है? ...
और पढ़ें
कैसे पाएं कृष्ण जैसा जादुई आकर्षण

कैसे पाएं कृष्ण जैसा जादुई आकर्षण

अगर आपने समग्रता की अवस्था पा ली तो आप नीले हो जाएंगे। जिस पल आपने सब कुछ खुद में समाहित कर लिया, स्वाभाविक रूप से आप उस नीलिमा को पा लेंगे। लेकिन यह होगा कैसे? ...
और पढ़ें
भक्ति पैदा करने के सूत्र

भक्ति पैदा करने के सूत्र

आध्यात्मिक उन्नति के लिए पूजा पाठ, मंत्रोच्चार, प्राणायाम, योग और भक्ति आदि साधनाएं की जाती हैं। इनमें से भक्ति ऐसी है जो हमारे भावों से जुडी है। कैसे बना सकते हैं भावों को भक्तिमय? ...
और पढ़ें