• वजन घटाने के लिए करें कुछ ख़ास योग अभ्‍यास

    वजन घटाने के लिए करें कुछ ख़ास योग अभ्‍यास

  • आप जो बांटते हैं, वही आपका गुण बन जाता है

    आप जो बांटते हैं, वही आपका गुण बन जाता है

  • 2220150222_CHI_0041-e

    सम्यमा: मन को निश्चल बनाने की एक विधि

  • ध्यान: मन को मालिक नहीं सेवक बनाएं

    ध्यान: मन को मालिक नहीं सेवक बनाएं

  • हमारा शरीर परम आनंद की सीढ़ी और मन है एक चमत्कार

    हमारा शरीर परम आनंद की सीढ़ी और मन है एक चमत्कार

  • कृष्ण पहुंचे नागकन्याओं के रूमानी टापू पर

    कृष्ण पहुंचे नागकन्याओं के रूमानी टापू पर – भाग 2

  • पानी की भी याद्दाश्त होती है!

    पानी की भी याद्दाश्त होती है!

  • एलोपैथी या आयुर्वेद ​: कौन है ज्‍यादा असरदार?​

    एलोपैथी या आयुर्वेद ​: कौन है ज्‍यादा असरदार?​

विडियो ब्लॉग पोस्ट

नये ब्लॉग पोस्ट

वजन घटाने के लिए करें कुछ ख़ास योग अभ्‍यास

वजन घटाने के लिए करें कुछ ख़ास योग अभ्‍यास

वजन कम करना हो या मांसपेशियों की ताकत को बढ़ाना हो, लोग कईतरह के नुस्खे आजमाते हैं। कुछ लोग इसके लिए योग की तरफ भी रूख करते हैं। तो क्या योग से ये संभव है ? क्या इसके लिए कुछ ख़ास योगाभ्यास किए जा सकते हैं?

और पढ़ें
आप जो बांटते हैं, वही आपका गुण बन जाता है

आप जो बांटते हैं, वही आपका गुण बन जाता है

हम समझते हैं कि हम जो चीज़ हमारे भीतर है वो हमारा गुण होगा, जबकि जो आप अपने आस पास बिखेरते हैं, जो बांटते हैं, वो आपका गुण होता है। ये ठीक वैसा ही है जैसा रंगों के साथ होता है। आइए जानते हैं विस्तार से :

और पढ़ें
2220150222_CHI_0041-e

सम्यमा: मन को निश्चल बनाने की एक विधि

जीवन में ध्यान की स्थिरता लाने के बहुत जरुरी है मन में स्थिरता को लाना। आज सद्‌गुरु बता रहे हैं कि मन को पूरी तरह स्थिर बनाने के लिए जरुरी है की हम अपने विचारों को अहमियत देना छोड़ दें। वे बता रहे हैं कि कैसे इसे गुलामी मानना एक भूल है..

और पढ़ें
ध्यान: मन को मालिक नहीं सेवक बनाएं

ध्यान: मन को मालिक नहीं सेवक बनाएं

हम हर काम करने से पहले यह जरुर सोचते हैं कि इसे करने से हमें क्या मिलेगा। लेकिन जब यही सोच कर हम ध्यान करना चाहते हैं तो … ? सद्‌गुरु बता रहे हैं कि यह सोचना छोडि़ए। क्यों, आइए जानते हैं :

और पढ़ें
हमारा शरीर परम आनंद की सीढ़ी और मन है एक चमत्कार

हमारा शरीर परम आनंद की सीढ़ी और मन है एक चमत्कार

यह मानव शरीर एक ऐसा तोहफा है आपके लिए जिसे आप चाहें तो स्वर्ग की सीढ़ी बना लें या अपने लिए परेशानियों का द्वार। और हमारा मन एक कमाल का यंत्र है, बस यह समझिए कि सुप्रीम कंप्यूटर।

और पढ़ें
कृष्ण पहुंचे नागकन्याओं के रूमानी टापू पर

कृष्ण पहुंचे नागकन्याओं के रूमानी टापू पर – भाग 2

कृष्ण अपने गुरु संदीपनी के पुत्र पुनर्दत्त को वापस लाने के लिए निकल पड़ते हैं। उसे समुद्री डाकुओं ने पकडक़र बेच दिया था। कृष्ण किसी तरह उस जगह पहुंच जाते हैं, जहां पुनर्दत्त को बेचा गया था। वहां उन्होंने देखा कि पुनर्दत्त नागकन्याओं के चंगुल में फंसा हुआ है।

और पढ़ें
पानी की भी याद्दाश्त होती है!

पानी की भी याद्दाश्त होती है!

हमारी संस्कृति में पानी को रखने से लेकर पीने तक के लिए कुछ तौर-तरीके निश्चित किए गए थे, जिन्हें अंधविश्वास कह कर हम नकारते चले गए। आज उन्हीं बातों की पुष्टि विज्ञान भी कर रहा है। तो आइए जानते हैं उन तौर-तरीकों को :

और पढ़ें
एलोपैथी या आयुर्वेद ​: कौन है ज्‍यादा असरदार?​

एलोपैथी या आयुर्वेद ​: कौन है ज्‍यादा असरदार?​

आयुर्वेद और सिद्ध जैसी चिकित्सा प्रणालियां आज की दुनिया में वैकल्पिक उपचार मानी जाती हैं। कुछ लोग झट से ऐसे उपचारों को नकार देते हैं जबकि दूसरे उन पर पूरा विश्वास करते हैं। एलोपैथी, आयुर्वेद या सिद्ध में से सही उपचार चुनना एक भ्रामक चीज हो सकती है। इस लेख में, सद्‌गुरु हर प्रकार के उपचार के फायदों के बारे में बता रहे हैं। वह किसी एक उपचार को सर्वोत्तम बताने की बजाय सभी प्रणालियों को साथ लेकर चलने की अहमियत पर बल देते हैं।

और पढ़ें